Home

जीवन का सफर किस्से कहानियो के संग…

Advertisements

Latest stories…

दिल से…

कायाकल्प चैलेंज सुप्रभात दोस्तों, आशा करती हूं कि आज का चैलेंज आपने अब तक पूरा कर लिया होगा… आज का चैलेंज था सिर्फ 20 सूर्य नमस्कार के साथ थोड़ी सी एब्स एक्सरसाईंज़। जो मैंने आपको कल बताई थी। और कल ही एक फैट कटर ड्रिंक भी बताया था आपको। जिंजर … “दिल से…”पढ़ना जारी रखें

दिल से…

कायाकल्प चैलेंज सुप्रभात दोस्तों होप की आप लोगों ने कल अपनी तस्वीर उतार कर रख ली होगी और अपना वजन भी माप लिया होगा। वैसे व्यायाम और योग के हिसाब से आज भी मेरी अपडेट लेट हो रही है। क्योंकि देखा जाए तो व्यायाम का सबसे सही समय होता है … “दिल से…”पढ़ना जारी रखें

दिल से….

कायाकल्प चैलेंज प्यारे दोस्तों, माफ कीजियेगा हमारे चैलेंज के लिए मैं ही लेट हो गयी, पर आप सब एकदम चुस्ती से तैयार हैं … यही देख कर दिल खुश हो गया। आज इस चैलेंज से जुड़ी सिर्फ 5 बातें बताऊंगी… 1) आज आप सभी जो इस चैलेंज से जुड़ना चाहतें … “दिल से….”पढ़ना जारी रखें

दिल से…..

कायाकल्प चैलेंज… प्यारे दोस्तों, मुझे बेहद खुशी हो रही है कि आप लोग फिटनेस चैलेंज के लिए भारी संख्या में तैयार हो गए हैं। फिटनेस सिर्फ आपके शरीर से ही नही जुड़ी होती, ये मानसिक आत्मिक और भावनात्मक भी होती है। औरतें अक्सर डिलीवरी के बाद शारीरिक रूप से तो … “दिल से…..”पढ़ना जारी रखें

दिल से…

हेलो दोस्तों कैसे हैं आप सब ? जानती हूं अच्छे ही होंगे। बल्कि बहुत अच्छे… खुश स्वस्थ और खुद में मस्त। स्वस्थ पर मैंने सबसे ज्यादा जोर दिया है…. अब चूंकि ये सिर्फ एक लेखिका का ब्लॉग तो है नही, इसमें एक डॉक्टर एक गृहिणी भी मौजूद है। तो सोचा … “दिल से…”पढ़ना जारी रखें

शादी.कॉम- 30

   शादी डॉट कॉम-30     मैं तो ना चला था दो कदम भी तुम बिन    फिर भी मेरा बचपन यही समझा हर दिन    छोड़कर मुझे भला अब कहां जाओगे तुम    ये ना सोचा था कभी इतने याद आयोगे तुम    रूठ के हमसे कभी जब चले जाओगे तुम… राजा– दोस्त ज़रा … “शादी.कॉम- 30”पढ़ना जारी रखें

समिधा – 47

   समिधा – 47       उदयाचार्य के अपनी बात समाप्त करने के बाद सारे आचार्य सोच में थे सभी की निगाहें वरुण की ओर थीं कि आखिर वरुण के दिमाग में ऐसी कौन सी योजना है जिसके लिए वो इतने आत्मविश्वास से कह रहा है।  उदयाचार्य ने उससे पूछा पर … “समिधा – 47”पढ़ना जारी रखें

दिल से…

इस बात का अफसोस है इस बात का गिला   कि ज़िन्दगी में हमको कोई हमसा नही मिला    जहाँ हो सुकूँ की छांव मुहब्बत के हो किले   कहीं न मिला ऐसा गांव न मिला कोई जिला     फ़ाकापरस्ती में  जो पूरा दिन गुज़ार दे    उससे ही होकर गुजरा है सबरों … “दिल से…”पढ़ना जारी रखें

समिधा -46

  समिधा -46       अगले दिन मंदिर में उपस्थित सभी आचार्य गुरुओं की मीटिंग बैठी। वरुण और प्रशांत भी मौजूद थे।  चर्चा का विषय एकमात्र यही था कि प्रबोधानन्द के मामले में क्या किया जाए? अभी तक तो बस मामला एक पुलिस थाने में ही था लेकिन जैसे ही मामला … “समिधा -46”पढ़ना जारी रखें

दिल से…

हमर छत्तीसगढ़ के वासी मन ला गाड़ा गाड़ा बधाई..

लोड हो रहा है…

Something went wrong. Please refresh the page and/or try again.

Advertisements

Get new content delivered directly to your inbox.