प्यार # 62 kg

यह नीरा खुद को समझती क्या है यार जब देखो तब मोटापे पर लेक्चर देती रहती है मुझे,,          खुद उसने अपनी पूरी जिंदगी में बस एक ही काम किया है जो अपने पचासी किलो के वजन को 65 में लेकर आ गई अब मेरे पीछे पड़ी हुई है।।”  ” छोड़ो ना तुम भी किसकी किसकी बात लेकर बैठ जाती हो अब उन लोगों के पास और काम भी क्या है??असल में तो सब जलती है तुमसे।।”  ” किससे मेरी जॉब से??”  ” नहीं मेरी जान तुम्हारे हैंडसम पति से सबको लगता कितना हैंडसम पति मिला हुआ है इसे”  “ओहो मिस्टर हैंडसम आपने उन लोगों के हस्बैंड को नहीं देखा है क्या?? मुझे तो बल्कि यह लगता है कि इतने पढ़े लिखे स्मार्ट लड़कों को ऐसी गंवार लड़कियां कैसे मिल गई मैं तो फिर भी बहुत क्लासी हूँ, बस थोड़ी सी मोटी हो गई हूं।”  ” अरे कुछ मोटी वोटी नहीं हुई हो,,हाँ  हेल्थ वाइज चाहो तो कुछ कर लो,योग या जिम!! थोड़ा बहुत वेट रिड्यूस करने में कोई बुराई नहीं है पर अपने बढ़ते वजन को लेकर टेंशन में मत आ जाओ समझी, और हां शाम को याद रखना एक बर्थडे पार्टी है जाना है।।”” ओह नो आज से डाइटिंग शुरू करने की सोची थी आज ही बर्थडे पार्टी में जाना है चलो ठीक है आज खा लूंगी कल से शुरू कर लूंगी  डायटिंग।।”रागिनी भी महिलाओं की इंटरनेशनल समस्या मोटापे से ग्रस्त थी,वो उतनी मोटी थी नही पर खुद को अपने टीन एज के रूप से कम्पेयर कर के दुखी हो जाती थी।।    कॉलेज के दिनो में उसका वेलशेप्ड फिगर और कपड़े सबके ध्यान का केंद्र होते थे,उसे कभी अपने आपको मेनटेन करने की ज़रूरत ही नही पड़ी ….   इसी मुगालते में वो जी रही थी कि वो कभी मोटी नही हो सकती।।    शादी के बाद जो हल्का फुल्का एक दो के जी गेन हुआ भी वो उस पर और फ़बने लगा,और बस यही एक चूक हो गयी…….कम्बख्त बॉडी को फलने फूलने की आदत लग गयी,और ज़बान को स्वाद का चस्का ..     रही सही कसर डिलीवरी में पूरी हो गयी,उस वक्त आस पास के हर किसी का प्यार रागिनी की खाने की प्लेट पर ही उमड़ पड़ा ,  वेज नॉनवेज,मीठा तीखा जिससे जो बन पड़ा उसने आगे बढ़ बढ़ कर रागिनी को खिलाया,नतीजा बेबी तो 2.75 किलो का हुआ पर रागिनी खुद 75 में पहुंच गयी।।   बच्चे के साथ एक साल तो सोते- जागते,हँसते- रोते, सूसू पॉटी में निकल गये,पर उसके बाद जब एक बार फिर सोशल लाईफ में इंटरफेयर शुरु हुआ तब जाकर रागिनी की नींद खुली।।     अपने आस पास नज़र फिरायी तो देखा उसे जम के खिलाने वाली सखियाँ खुद स्लिम ट्रिम बनी हुई है…..     उन्हीं सखियों के साथ एक ही फ्रेम शेयर करना अब उसके लिये मुसीबत का सबब बनने लगा, हर पार्टी में जाने के पहले यक्ष-प्रश्न सामने मुहँ बाया खड़ा होता __ ” क्या पहन के जाऊँ ” और फिर तरह तरह के गाउन ,साड़ियाँ ट्राई करने मे बाद अंत में जीन्स के साथ कोई भी लम्बी कुरती या श्रग ही पेट छुपाने का हथियार बनता।।    रागिनी को जितनी कोफ्त अपने बढ़े पेट को देखकर नही होती थी उससे कहीं ज्यादा चिढ़ उसे दूसरों की दी हुई एडवाइज़ से होती….   वही सारी औरतें जो कल तक उसके फैशन ट्रेंड को फॉलो करती थी,आज उसे रह रह कर पतले दिखने की टिप्स दिया करती थी।।       ” जिम शुरु कर ले रागिनी,वर्ना तेरा दुबला होना असम्भव है”  ” पर्सनल ट्रेनर क्यों नही रख लेती।”  ” अरे शिल्पा शेट्टी का योगा विडियो देखा कर बहुत फायदा होगा।”   इसी तरह के एक से बढ़ कर एक नुस्खे उसे थमाए जाने लगे,जिनके पीछे छिपी काली सच्चाई की ” हाँ तुम मोटी हो रागिनी” उसका दिल दुखा जाती।    वजन कम करना कोई आसान काम तो है नहीं, फिर भी एक दृढ़ निश्चय के साथ रागिनी ने उस ओर कदम बढ़ाया अपनी दिनचर्या को व्यवस्थित किया शेडूल बनाया, और हफ्ते में 3 दिन जिम जाना शुरु किया ……इसके साथ ही दिन भर में 8 से 10 गिलास पानी पीना सिर्फ उबली सब्जियां खाना सलाद खाना फल खाना शुरु कर दिया…  हफ्ते में 2 दिन योगा भी करने लगी….    लगभग पन्द्रह दिन की कड़ी मेहनत का नतीजा सामने आया,वजन का कांटा 2 किलो कम दिखाने लगा…     खुशी से बौराई रागिनी शाम का इन्तजार करने लगी।।     शाम में राजीव के बेल बजाते ही दरवाज़ा खुद ब खुद खुल गया,भीतर आते ही बैठक में कैंडल्स की मद्धिम रोशनी और खुशबू जादू सा असर दिखा रही थी,सेंटर टेबल पर एक खूबसूरत सी ट्रे में गुलाब की पंखुडियों के ऊपर दो चाय के कप,चाय की भरी केतली के साथ रखे थे,और पास की प्लेट पर सजी थी हाई फाईबर डाईट बिस्किट्स, जिन्हें देख राजीव के चेहरे पर मुस्कान खिल गयी,  वो सोफे पर बैठा ही था कि रेड कलर के पार्टी गाउन में रागिनी भी सामने आ गई, उसे इतना सजा धजा देख राजीव को अन्दर से घबराहट सी हुई कि कहीं आज रागिनी का जन्मदिन तो नही जो वो भूल गया,फिर अचानक याद आया अभी पिछले महीने ही तो उसके जन्मदिन के लिये डायमंड्स खरीदे थे,बिल भी अब तक किसी शर्ट की जेब में पड़ा होगा…..     फिर कहीं उन दोनों की एनिवर्सरी तो नही,पर ऐसे डायरेक्ट पूछना शोभा नही देता,बेचारी ने इतनी तैय्यारियाँ की है,क्या सोचेगी निकम्मे पति को शादी की तारीख तक याद नही ,अभी वो अपनी सोच मे डूबा ही था की ब्लास्ट हुआ__   ” कैसी लग रही हूं मैं??”    ” बहुत खूबसूरत “पानी की घूंट निगल कर राजीव ने कहा और ध्यान से रागिनी को देखने लगा कि आखिर आज क्या विशेष है??  ” मतलब स्लिम होकर मैं अच्छी लग रही हूँ ना,राजीव पता है इन पन्द्रह दिनों में ना तो मैंने राईस का दाना खाया,ना कोई मीठा,,तुम्हें पता है चाय तक छोड़ रखी थी मैंने,पर आज मेरी सारी तपस्या का फल मिल गया तुम्हें पता है मेरा 2 किलो वजन कम हो गया।।  राजीव की सांस में सांस आई,, तो यह बात है मैडम जी इसलिए इतना सेलिब्रेट कर रही है,, कुछ देर पहले राजीव के चेहरे का उड़ा हुआ रंग वापस आ गया,उसने रागिनी को खींच कर गले से लगा लिया__       ” इतना क्यों परेशान होती हो,तुम वैसे ही बहुत खूबसूरत हो मेरी जान।”   ” पर स्लिम होकर और ज्यादा लग रही हूँ ना!!”    ” हाँ बाबा!! तुम खुश हो ना?”    ” बहुत ज्यादा खुश हूँ राजीव।”    ” तो बस,जिसमें तुम्हारी खुशी!! अगर तुम्हें लगता है कि तुम्हें स्लिम ट्रिम रहना है तो ऐसे ही रहो,मुझे कोई दिक्कत नही है,,मैंने तो तुमसे प्यार किया है रागिनी, तुम्हारी हाइट तुम्हारा फिगर तुम्हारे बाल आंखें होंठ हाथ पैर इन सब से नहीं,, तुमसे मैंने तुमसे प्यार किया है कल को तुम्हारे बाल कम हो जाएंगे या सफेद हो जाएंगे तो मेरा प्यार कम थोड़ी ना हो जाएगा,, बल्कि वो तो समय के साथ बढ़ता जाएगा हमेशा….. पहले तुम मेरी पत्नी थी लेकिन आज तुम मेरे बेटे की मां हो,,, मां बनने के बाद तुम्हारे लिए मेरे मन में आदर सत्कार और बढ़ गया और प्यार भी….. कल को तुम मेरी बहू की सास बनोगी, तब तुम्हारे लिए सम्मान और भी ज्यादा बढ़ जाएगा और उसके साथ ही प्यार भी।। उसके बाद तुम मेरे पोते पोतियो की दादी बन जाओगी तब तो वह सम्मान पीक पर होगा और उसके साथ ही प्यार भी…..        तुम्हारे शरीर के घटते बढ़ते इंचेज मेरे प्यार को कम नहीं कर सकते, कभी नही ।।   “ओह्ह यू आर सच अ स्वीटहार्ट राजीव,अच्छा सुनो अब जल्दी से फ्रेश होकर आ जाओ ,बहुत भूख लग रही है ,आज सेलेब्रेट करने के लिये मैंने पालक पनीर, भरवां बैगन, मटर पुलाव ,बूंदी का रायता और खीर बनाई है ,जल्दी आओ तब तक मैं टेबल रेडी करती हूँ ।”   ” हे भगवान!! इतना सारा खाना!!”    ” हाँ तो!! पन्द्रह दिन की भूखी भी तो हूँ ।   पर सुन लो बहारें मुझसे रूठी नही हैं,बहारें फिर से आयेंगी।।”    राजीव हँसते हुए कपड़े बदलने अन्दर चला गया।। 

aparna….

लेखक: Aparna Mishra

दिल से लेखक हूँ... मेरे किस्सों में आप खुद को ढूंढ सकते हैं... 80aparna.mishra@gmail.com

“प्यार # 62 kg” पर एक विचार

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s