Bajirao

Advertisements
  • बाजीराव – एक प्रेम कहानी

    मैं दो साल से पुणे में थी,सदाशिव पेठ मे,अब शादी के बाद वाकड़ आ गयी ……मालपानी ब्लूस मे ।।बहुत बड़ी सोसाइटी और उससे भी बड़े लोग,मै और मेरे पतिदेव सॉफ़्टवेयर वाले हैं,सो हमारी जमात को यहाँ के लोग एलियन समझते हैं । हम दोनो कुछ एलियन से थे भी,अपने मे मगन,किसी से कोई लेना देना … “बाजीराव – एक प्रेम कहानी”पढ़ना जारी रखें

  • बाजीराव -2

         ……………                  मूवी का नाम सुन मन अजीब सा खट्टा हो गया,बहुत भारी कदमों से मैं घर वापस आ गयी       जिंदगी अपनी गति से चल रही थी,पर मेरे अन्दर ही कुछ टूट गया सा लग रहा था,जिसकी किरचें मेरी रगों मे दौड़ दौड़ के मुझे बार बार रनवीर की बेवफाई याद दिला रही थी,बार … “बाजीराव -2”पढ़ना जारी रखें

Advertisements
%d bloggers like this: