shaadi.com

Advertisements
  • शादी.कॉम – 26

    शादी डॉट कॉम-26            “मल्टीनेशनल बैन्क्स की तर्ज पर खालिस देसी बैंक भी अपने कर्मचारियों को इस तरह की पार्टी और आयोजन का झुनझुना पकड़ा कर अत्यधिक परिश्रम  कार्य से होने वाली  मानसिक और शारीरिक थकान को दूर करने का सरल उपाय सिखाने की आड़ में उन पर क्षमता से अधिक कार्य थोप रहे हैं,” … “शादी.कॉम – 26”पढ़ना जारी रखें

  • शादी.कॉम-25

    शादी डॉट कॉम-25      दो दिन कब पलक झपकते बीत गये बांसुरी को पता भी नही चला,तीसरे दिन से टीम द्वारा एक ट्रेनिंग सेशन का आयोजन किया जाना था जिसमेंटीम के अलग अलग सदस्यों द्वारा विभिन्न विषयों पर व्याख्यान दिया जाना था,हालांकि बैंक के रूटीन कार्य में व्यवधान ना हो इसलिये कुछ चुने हुए बैंक … “शादी.कॉम-25”पढ़ना जारी रखें

  • शादी.कॉम – 24

      शादी डॉट कॉम:- 24                                      रिवॉलविंग चेयर पे वही तो बैठा था,  अपनी सफेद कमीज की बाहों को कुहनीयों तक मोड़ कर दाहिने हाथ मे ऑडिटर वाली पेन्सिल पकड़े टेबल पर पड़ी फाइल को देखता,,बिल्कुल वैसे का वैसा।। पर बुआ सही कह रही थी ,कुछ दुबला हो गया था,और ये चश्मा कब लग गया … “शादी.कॉम – 24”पढ़ना जारी रखें

  • शादी.कॉम -23

    मुलाकात : राजा और बांसुरी की

  • शादी.कॉम – 22

          आँधी की तरह उड़कर इक राह गुज़रती है       शरमाती हुई कोई क़दमों से उतरती है           इन रेशमी राहों में इक राह तो वो होगी         तुम तक जो पहुंचती है इस मोड़ से जाती है                                                              इस मोड़ से जाते हैं……        कुछ सुस्त कदम रस्ते,कुछ तेज़ कदम राहें…   अपने कमरे में बैठी बांसुरी को समझ … “शादी.कॉम – 22”पढ़ना जारी रखें

  • शादी.कॉम – 21

    शादी डॉट कॉम: 21        तेरे बिना चांद का सोना खोटा रे          पीली पीली धूल उड़ावे रे            तेरे संग सोना पीतल             तेरे संग कीकर पीपल              आजा कटे ना रतिया………         ओ हम दम बिन तेरे क्या जीना      तेरे बिना बेस्वादी बेस्वादी रतिया ओ सजना…    ” लगे रहो बेटा!!! सही जा रहे हो,,एक एक लक्षण प्रेम … “शादी.कॉम – 21”पढ़ना जारी रखें

  • शादी.कॉम-20

               अगर लैला मजनूँ,हीर राँझा के घर वाले एक बार में ही उनके प्यार को कबूल लेते तो शायद ही ऐसी सफल प्रेम कहानियाँ रची जातीं।।    अम्मा की ना ने दोनो के मन में छिपा रहा सहा संकोच भी समाप्त कर दिया,दोनो को ही समझ आ गया कि एक दूसरे के बिना जीना व्यर्थ … “शादी.कॉम-20”पढ़ना जारी रखें

  • शादी.कॉम-19

                 “अरे ए फूलमनी जा तो ओ रखिया को घीस घास के रख !! राजा के बाऊजी भी ,बस काम फैलाना जानते है,इत्ता बड़ा पेठा उठा लाये,अब इसकी बरी तोड़ने के लिये उत्ता सारा उरद भी तो पीसे पड़ी,का का देखें हम,अब हमारा भी उत्ता जी नही चलता।।”   “हो जायेगा अम्मा जी ,सब काम … “शादी.कॉम-19”पढ़ना जारी रखें

  • शादी.कॉम-18

          ” नैना नु पता है, नैना दी खता है       सानु किस गल दी फिर मिल दी सज़ा है       नींद उड़ जावे, चैन छड  जावे       इश्क़ दी फ़क़ीरी जद लग जावे                 ऐ मन करदा है ठगी ठोरिया                 ऐ मन करदा हैं  सीना ज़ोरियां                 ऐने सिख लियाँ दिल दियां चोरियां                 ऐ मन दियां ने कमज़ोरियाँ “ … “शादी.कॉम-18”पढ़ना जारी रखें

  • शादी.कॉम-17

      “ तुम सिखा रहे हो,तुम सिखा रहे हो   जिस्म को हमारे रूहदारियां……   काफिराना सा है,इश्क़ है या क्या है।।”   गाने के बोलों के साथ ही राजा के मन में भी बांसुरी बजने लगी।।    कॉफ़ी खतम कर बाँसुरी और निरमा उठ खड़े हुए घर वापसी के लिये।।    राजा और प्रेम दोनों को छोड़ने बाहर … “शादी.कॉम-17”पढ़ना जारी रखें

  • शादी.कॉम- 16

           ” ना मोहब्बत ना दोस्ती के लिये,वक्त रुकता नही किसी के लिये।।”    जिसने भी कहा है या लिखा है,अटल सत्य है!! सब कुछ अपनी गति से चलता रहता है ,समय किसी के लिये नही रुकता,।।     समय अपनी गति से चलता गया,बांसुरी को जिम जाते पूरे छै महीने बीत गये,अब वो पहली वाली गोल … “शादी.कॉम- 16”पढ़ना जारी रखें

  • शादी.कॉम -15

      “ शाही जोड़ा पहन के आई जो बन ठन के वही तो     मेरी स्वीटहार्ट है,  शरमाई सी बगल में जो बैठी है दुल्हन के….”    जिम में  मस्ती के मूड़ में गाना बज रहा था,सभी अपने अपने क्रिया-कलापों में व्यस्त थे,राजा कभी किसी को कुछ बताता,कभी किसी को।।कभी किसी की स्पीड सही करता,कभी किसी के … “शादी.कॉम -15”पढ़ना जारी रखें

  • शादी.कॉम-14

           फेरे पड़ गये,,भान्वर हो गई….वर वधु ने पण्डित जी का आशीर्वाद लिया और अपने गृहस्थ जीवन के शुरुवाती सोपान पर कदम रख दिया।।      ब्याह निपटने के बाद मन्दिर से नीचे उतर के सभी विमर्श में जुटे कि अब आगे क्या किया जाये।।  लड़कों का कहना था कि लल्लन के घर जाया जाये,परन्तु अब … “शादी.कॉम-14”पढ़ना जारी रखें

  • शादी.कॉम-13

       रूपा की बहन रेखा को आये पूरे दो दिन बीत गये, अपनी बड़ी बहन की चाक चौबंद चौकीदारी में रेखा दुबारा राजा की जिम का रुख नही कर पाई।।    मिलने की आस जगा कर भी जब रेखा मिलने नही आई तो लल्लन की बेचैनी घड़ी की हर टिक टिक के साथ बढ़ती चली गई,अब … “शादी.कॉम-13”पढ़ना जारी रखें

  • शादी.कॉम -12

       “पहला पहला प्यार है,,पहली पहली बार है,     जान के भी अनजाना कैसा मेरा यार है।।” ” अबे कौन बजाया बे! बदलो ई पहला पहला प्यार को!!” ” तो का लगायें भैय्या जी।” राजा की दहाड़ सुनते ही प्रिंस लपक पड़ा ।।जिम में लोगों का आवागमन शुरु हो चुका था,ऐसे में प्रिंस वर्कआउट के लिये … “शादी.कॉम -12”पढ़ना जारी रखें

  • शादी.कॉम-11

        पिंकी और रतन की सगाई संपन्न हुई।।।सारे लोगों को व्यस्तता का जो बहाना मिला था चूक गया,, सारे रस भरे दिन चूक गये,रसोइये ने अपने साजो सामान को समेटा ,तगडा नेग लिया और चलता बना,एक एक कर मेहमानो ने भी जाना शुरु कर दिया।।  पर ऐसे मौकों पे कुछ ऐसे मेहमान भी आते हैं,जो … “शादी.कॉम-11”पढ़ना जारी रखें

  • शादी.कॉम-10

    ……..    युवराज के सकुशल घर वापसी से घर पे फिर एक बार उत्सव सा माहौल बन गया।।वैसे भी शादी ब्याह का घर त्योहारों का घर लगता है,,पन्द्रह दिन बाद होने वाली सगाई की तैय्यारियों में पूरा अवस्थी परिवार डूब गया,माहौल बिल्कुल दशहरा दिवाली जैसा हो गया।।        हर कोई किसी ना किसी काम मे व्यस्त … “शादी.कॉम-10”पढ़ना जारी रखें

  • शादी.कॉम -9

      …………..      बांसुरी के प्लान के मुताबिक राजा ने प्रेम के घर पे और बांसुरी ने निरमा के घर पे जाकर बात की,पर उम्म्मीद के विपरीत दोनों ही घर की अम्मा लोंगो ने और बड़ी बड़ी कसमें किरिया उठा ली कि,”हमरे जीते जी ई ब्याह ना हो सकब,हमरी ठठरी उठ जाये के बाद अपन अपन … “शादी.कॉम -9”पढ़ना जारी रखें

  • शादी.कॉम -8

        हनुमान गली का गुड्डा असल में गुड्डा नही गुण्डा था,एक नम्बर का मवाली और नकारा गुड्डा अपने मोहल्ले ही नही सारे शहर का सर दर्द था।।  मोहल्ले में घूम घूम के दुकानदारों को सताना और चिढ़ाना उसका प्रिय शगल था।।     “काका कचौरी वाले” की दुकान हो या चौरसिया का पान ठेला सभी जगह उसकी … “शादी.कॉम -8”पढ़ना जारी रखें

  • शादी.कॉम-7

           राधेश्याम जी के घर पे पूरा त्योहार का माहौल हो गया था,शाम को समधि जो आने वाले थे,राधे श्याम और उनके छोटे भाई सीता राम अपने अपने काम धन्धे से जल्दी वापस आ चुके थे लेकिन युवराज अपने पैट्रोल पम्प पर ही था,जाहिर है वो उनका दामाद ठहरा उसे तो अपने ससुराल में ये … “शादी.कॉम-7”पढ़ना जारी रखें

  • शादी.कॉम- 6

                                राजा भैय्या के जिम में उन्होनें पहले महिलाओं और पुरूषों के लिये अलग अलग समय रखा था,परन्तु उनके चेले चपाडों का उन्हे वक्त बेक़क्त घेरे रहना उस मे दिक्कत डालने लगा था इसिलिए सारा कॉमन समय कर दिया,फिर भी अधिकतर घरेलू महिलायें,कॉलेज जाने वाली लड़कियाँ 9बजे के बाद जब घर के पुरूष ऑफिस और … “शादी.कॉम- 6”पढ़ना जारी रखें

  • शादी.कॉम -5

      “अम्मा जी खीर बना के रख दिये हैं,और कद्दू भी छौंक दियें हैं,ये देख लिजिये पूड़ी का आटा,इत्ता हो जायेगा कि और ले लें ।।”   रूपा यानी युवराज अवस्थी की दुल्हनीया और राजा भैय्या की भाभी आज बड़ी प्रसन्न हैं,हो भी क्यों ना !! आज उनके पिता और भाई शाम के भोजन पर … “शादी.कॉम -5”पढ़ना जारी रखें

  • शादी.कॉम -4

      ,”पर्मिला अरी ओ पर्मिला,,कहाँ मरी पड़ी है,,हे राम!!! एक तो मरे घुटने के दर्द से चला फिरा नही जाता फिर भी तेरी बेटी के लिये कैसे रात दिन एक किये हूँ,,देख तो सही।।”   अपने पेट पर के टायरों को संभाले घुटनों को सहलाते बुआ जी प्रमिला को आवाज़ देती भीतर चली आईं, उनकी … “शादी.कॉम -4”पढ़ना जारी रखें

  • शादी.कॉम-3

    राजा भैय्या के भलमनसाहत के किस्से जितने फेमस थे उससे कहीं ज्यादा भैय्या जी के कातिल रंग रूप के चर्चे थे मोहल्ले की लडकियों के बीच।।।।      क्या कुंवारी कन्यायें और क्या शादीशुदा ,सभी सुबह सुबह भैय्या जी एक झलक पाने को किसी ना किसी बहाने अपने द्वारे खिंची चली आती,कोई खिड़की से झांक लेती कोई … “शादी.कॉम-3”पढ़ना जारी रखें

  • शादी.कॉम-2

      …………………………            भैय्या जी के लिये औरतें सिर्फ और सिर्फ आदर की वस्तु थीं।                अपनी उबलती हुई उमर में भी आज तक किसी कंचन कामिनी की छाया उन्होनें अपने हृदय पे पड़ने नही दी थी,कहीं ना कहीं इसका कारण उनका स्कूल भी रहा होगा।।      राधेश्याम  जी पक्के जनसंघी थे, जब तक जा पाये हर रविवार … “शादी.कॉम-2”पढ़ना जारी रखें

  • शादी डॉट कॉम

    a beautiful love stories

  • शादी.कॉम

    शादी डॉट कॉम कहानी है …. एक ऐसी लड़की की जो सांवली है, मोटी भी है आज के ज़माने के हिसाब से कहा जाए तो किसी एंगल से सिंड्रेला नही लगती लेकिन आत्मविश्वास से लबरेज़ है…. शादी डॉट कॉम कहानी है … एक ऐसे लड़के की जो लंबा चौड़ा गोरा चिट्टा है, आज के ज़माने … “शादी.कॉम”पढ़ना जारी रखें

Advertisements

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s